अमर जवान ज्योति का राष्ट्रीय समर स्मारक में जल रही लौ के साथ विलय किया गया

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

नई दिल्ली। इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति का शुक्रवार को यहां राष्ट्रीय समर स्मारक की लौ साथ विलय कर दिया गया। सैन्य अधिकारियों ने कहा कि अमर जवान ज्योति को बुझाया जाएगा और लोग अब राष्ट्रीय समर स्मारक में अनंत लौ पर शहीद सैनिकों के प्रति अपना सम्मान प्रकट कर सकते हैं। अमर जवान ज्योति का निर्माण 1971 के युद्ध में भारत द्वारा पाकिस्तान को हराए जाने के बाद युद्ध में जान गंवाने वाले भारतीय सैनिकों के लिए एक स्मारक के रूप में किया गया था। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 26 जनवरी, 1972 को इसका उद्घाटन किया था। एक संक्षिप्त समारोह में अमर जवान ज्योति का एक हिस्सा लिया गया और उसे इंडिया गेट से 400 मीटर दूर स्थित एनडब्ल्यूएम में जल रही लौ के साथ मिला दिया गया। एकीकृत रक्षा प्रमुख एयर मार्शल बी.आर. कृष्णा ने समारोह की अध्यक्षता की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 फरवरी, 2019 को राष्ट्रीय समर स्मारक का उद्घाटन किया था, जहां ग्रेनाइट के पत्थरों पर 25,942 सैनिकों के नाम सुनहरे अक्षरों में अंकित हैं।

Rashifal

%d bloggers like this: