मलाइका शेरावत के बारे में क्या सोचते हैं मेल एक्टर सुनते हैं मलाइका की जुबानी

Spread the knowledge and Information

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस मल्लिका शेरावत इंडस्ट्री की दमदार अभिनेत्रियों में से एक हैं। वह Bold Role करने के माध्यम से दर्शको और मीडिया के भीतर लंबे समय तक चर्चा के भीतर रही। मल्लिका ने अपनी डेब्यू फिल्म ‘ख्वाहिश’ में 17 किसिंग सीन देकर तहलका मचा दिया था। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘मर्डर’ में भी जबरदस्त रोल किया था। उनकी यह फिल्म भी जबरदस्त हिट हुई थी। इसने उन्हें फिल्म उद्योग के भीतर एक दुर्जेय तस्वीर बना दिया। टारगेट मार्केट और मीडिया पर ज्यादा असरदार तो नहीं, लेकिन को-स्टार्स ने भी उनकी दमदार फोटो के जरिए उन्हें जज किया।

पिंकविला को दिए इंटरव्यू में मल्लिका ने बताया कि, ‘मैं अब कई फिल्मों में रोल नहीं देती थी, सिर्फ इसलिए कि मैंने एक्टर्स और बड़े स्टार्स के साथ समझौता करने से इनकार कर दिया था। हरियाणा से होने के कारण मुझमें स्वाभिमान और अभिमान भी है। मैंने समझौता करने से इनकार कर दिया और कहा कि मैं अब आपकी बड़ी फिल्मों पर पेंटिंग नहीं करना चाहता। इसके बाद मैंने अब तक बॉलीवुड के किसी भी ए-लिस्टर अभिनेता के साथ कोई फिल्म भी नहीं की है। इसके बाद भी मैं जीवित हूं। यह इस बात का सबूत है कि मैंने समझौता करने से भी परहेज किया है।

यह पूछे जाने पर कि फिल्म इंडस्ट्री में करियर बनाने के लिए मुंबई आने वाले एक्टर्स को वह क्या गाइडलाइंस दे सकती हैं? इस पर शेरावत ने कहा, ‘फिल्म इंडस्ट्री में आने वाले सभी लड़के-लड़कियों से कहना चाहूंगा कि अपने मानकों से कभी समझौता न करें। कोई भी फिल्म निर्माता केवल इस तथ्य के कारण करोड़ों का निवेश नहीं करेगा कि आपने समझौता किया है। वे आपका उपयोग करेंगे और आपको कचरा कर देंगे। अपनी जमीन पर टिके रहें, अपनी विशेषज्ञता पर भरोसा करें और अपना आत्म-प्रशंसा न खोएं।’ मल्लिका ने यंग जनरेशन को बताया कि, किसी फिल्म प्रोजेक्ट के लिए अपने मानकों से कभी समझौता नहीं करना चाहिए।

क्या मल्लिका को कभी कास्टिंग काउच का सामना करना पड़ा है? शेरावत ने कहा कि, ‘मुझे अब सीधे तौर पर इसका सामना नहीं करना पड़ा। मैं बहुत लकी बन गया, इंडस्ट्री में आते ही मुझे स्टारडम मिल गया। यह बहुत आसान हो गया, मुंबई आते ही मुझे ‘ख्वाहिश’ और ‘मर्डर’ फिल्में दी गईं। मुझे ज्यादा संघर्ष नहीं करना चाहिए था। ‘मर्डर’ की वजह से मेरी दुर्जेय तस्वीर बन गई। इससे अभिनेता मुझसे कई तरह की आजादी देखने लगे। ऐसे अभिनेता मुझे बताया करते थे कि अगर आप परदे पर दुर्जेय हो सकते हैं तो मेरे साथ ऑफस्क्रीन दुर्जेय क्यों नहीं हो सकते। ऐसे अभिनेता अब मेरे ऑनस्क्रीन और ऑफस्क्रीन व्यक्तित्व में अंतर नहीं करते थे। इसके कारण मुझे कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ा। मैं एक मजबूत महिला हूं और मुझे अपने पुरुष अभिनेता को सूचित करना अच्छा लगेगा कि, क्षमा करें, अब मैं समझौता नहीं करने जा रही हूं। मैं बॉलीवुड में भी अब समझौता करने नहीं, बल्कि पेशा बनाने आया हूं। इस वजह से मैंने कभी ऐसे एक्टर्स के साथ काम भी नहीं किया।


Spread the knowledge and Information

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *