आम बजट 2022-23: ओमीक्रोन की वजह से मिठाई ने लिया हलवे का स्थान

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप को लेकर चिंता के बीच वित्त मंत्रालय ने इस साल बजट से पहले परंपरागत हलवा समारोह को छोड़ दिया है। कर्मचारियों के घर-परिवार से अलग रहने और बजट दस्तावेज की छपाई का काम परंपरागत हलवा समारोह से शुरू होता रहा है। लेकिन इस साल इन कर्मचारियों को हलवा के बजाय मिठाई बांटी गई है। वित्त मंत्रालय ने बयान में कहा कि बजट की गोपनीयता को कायम रखने के लिए बजट दस्तावेज तैयार करने वाले अधिकारियों को दफ्तर में ही अपने परिवार से अलग रहना पड़ता है।

छपाई से जुड़े कर्मचारियों को भी नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में प्रिंटिंग प्रेस के अंदर कम से कम कुछ सप्ताह के लिए पृथक रहना पड़ता था। वित्त मंत्री द्वारा संसद में बजट पेश किए जाने के बाद ए कर्मचारी-अधिकारी अपने परिजनों से संपर्क कर पाते हैं। वित्त वर्ष 2022-23 का बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी, 2022 को पेश करेंगी। यह उनका चौथा बजट होगा। इस बार भी बजट कागजरहित होगा। एक ऐतिहासिक पहल के तहत पहली बार 2021-22 का बजट कागजरहित स्वरूप में पेश किया गया था। सांसदों और आम लोगों की आसानी से बजट दस्तावेजों तक पहुंच सुनिश्चित करने के लिए यूनियन बजट मोबाइल ऐप भी पेश शुरू की गई थी।

Rashifal

%d bloggers like this: