इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए नई प्रौद्योगिकी विकसित

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

नई दिल्ली। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) के अनुसंधानकर्ताओं ने इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए एक नई प्रौद्योगिकी विकसित की है, जिस पर मौजूदा प्रौद्योगिकी की तुलना में करीब आधी लागत आएगी। साथ ही, इससे दो पहिया और चार पहिया इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमतों में काफी कमी लाने में मदद मिल सकती है। अनुसंधान टीम के अनुसार, आईआईटी (बीएचयू) में प्रयोगशाला स्तर पर इसे पहले ही विकसित किया जा चुका है और उन्नयन तथा वाणिज्यिकरण प्रगति पर है।

आईआईटी गुवाहाटी और आईआईटी भुवनेश्वर के विशेषज्ञों के सहयोग से वाराणसी स्थित आईआईटी (बीएचयू) में इस प्रौद्योगिकी को विकसित किया गया है।

इसके तहत, वाहन मालिक अपने वाहन को किसी स्थान से जाकर चार्ज करते हैं, जिससे इलेक्ट्रिक वाहनों का परिचालन बहुत महंगा हो जाता है, लेकिन नई प्रौद्योगिकी से लागत में 40-50 फीसदी तक कमी आएगी, जिससे इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत घट जाएगी।

%d bloggers like this: