कोई भी परफेक्ट नहीं, अपने स्ट्राइक रेट पर काम कर रहा हूं: केएल राहुल

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

मोहाली। भारतीय उप कप्तान केएल राहुल को लगता है कि रन की संख्या धोखा दे सकती है लेकिन यह पूरी दास्तां बयां नहीं करती और टी20 विश्व कप से पहले उनकी कोशिश पावरप्ले ओवरों में अपने स्ट्राइक रेट को सुधारने की है।

आलोचना का सामना कर रहे हैं उपकप्तान
राहुल को पिछले कुछ समय से उनके स्ट्राइक रेट के कारण काफी आलोचनाएं झेलनी पड़ रही है और इस स्टाइलिश बल्लेबाज का मानना है कि पूरी पारी के दौरान एक जैसी लय बनाए रखना मुश्किल है। राहुल ने संयुक्त अरब अमीरात में एशिया कप के दौरान 122.22 के स्ट्राइक रेस से बल्लेबाजी की थी। उन्होंने कहा, यह (स्ट्राइक रेट) ऐसी चीज है जिसके लिए हर खिलाड़ी काम करता है। कोई भी परफेक्ट नहीं है। हर कोई किसी ना किसी चीज पर काम कर रहा है।

स्ट्राइक रेट पर बहस
राहुल के करियर में टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का स्ट्राइक रेट 61 मैचों में 140 से ज्यादा का है क्योंकि पारी के अंत में वह इसकी भरपाई कर लेते हैं। उन्होंने इस बहस पर अपना तर्क देते हुए कहा, स्ट्राइक रेट ओवरऑल (कुल स्कोर के) आधार पर लिया जाता है। राहुल ने कहा, आप एक बल्लेबाज को (पूरी पारी के दौरान) किसी एक निश्चित स्ट्राइक रेट पर खेलते हुए कभी नहीं देखते। उसके लिए 200 के स्ट्राइक रेट पर खेलना अहम था या फिर टीम 100 या 120 के स्ट्राइक रेट से खेलने से भी जीत सकती थी, इन चीजों के बारे में हमेशा आकलन नहीं किया जाता। इसलिए जब आप इसे पूर्ण रूप से देखते हैं तो यह धीमा दिखता है।

%d bloggers like this: