क्वाड ने हिन्द-प्रशांत को भयमुक्त रखने का संकल्प लिया

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

नई दिल्ली। क्वाड के विदेश मंत्रियों ने शुक्रवार को हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को भयमुक्त रखने के लिए सहयोग का विस्तार करने का संकल्प लिया और परोक्ष युद्ध के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले सीमा पार आतंकवाद की निंदा की। इसके साथ ही उन्होंने यूक्रेन संकट पर भी चर्चा की और स्पष्ट किया कि अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किसी भी देश को धमकाने या हमला करने के लिए नहीं होना चाहिए। विदेश मंत्री एस जयशंकर और अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया तथा जापान के उनके समकक्षों ने मेलबर्न में हुई बैठक में यह भी कहा कि अफगानिस्तान में ैअनियंत्रित स्थानै हिन्द-प्रशांत की सुरक्षा के लिए सीधा खतरा हैं। उन्होंने म्यांमा की स्थिति पर भी गंभीर चिंता जताई।         

क्वाड की चौथी बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में यूक्रेन का मुद्दा नहीं आया, हालांकि ब्लिंकन और ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने ने संकट पर रूस की आलोचना की तथा जापानी विदेश मंत्री योशिमासा हयाशी ने कहा कि तोक्यो यूक्रेन की संप्रभुता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।

इसमें कहा गया, हम एक स्वतंत्र और मुक्त हिन्द-प्रशांत को आगे बढ़ाने के हिन्द-प्रशांत देशों के प्रयासों का समर्थन करने के लिए क्वाड की प्रतिबद्धता की पुष्टि करते हैं – एक ऐसा क्षेत्र जो समावेशी हो और जिसमें देश किसी धमकी और भय के बिना अपने लोगों के हितों की रक्षा करने का प्रयास करें।

%d bloggers like this: