पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव राजनीतिक दलों ने डिजिटल प्रचार की शुरुआत की

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के साये में अगले महीने पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों ने रोचक हैशटैग, जोशीली धुन और त्वरित प्रतिक्रिया के साथ डिजिटल दुनिया में अपना प्रचार अभियान शुरू कर दिया है। विभिन्न पार्टियों में नारों को गढ़ने वाले और कलाकर लगातार काम कर रहे हैं ताकि पैने अंदाज में मतदाताओं को फेसबुक और यूट्यूब पर संदेश अथवा विरोधी दल को जवाब दिया जा सके।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश के लिए प्रचार गीत जारी किया है जो लोकप्रिय श्रीलंकाई गाना मणिके मागे हिथे पर आधारित है जिसे योहानी डी सिल्वा ने गाया है।

भाजपा के प्रचार गाने के बोल हैं, सबकी मन की यह भाषा, यहां दो-दो हैं आशा, यही मोदी, यही योगी, उपयोगी, सहयोगी। इसके साथ ही गाने में राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यों, दंगा मुक्त पांच साल, बिजली आपूर्ति में सुधार और अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को रेखांकित किया गया है। इस गाने को भाजपा और उसके नेताओं ने पिछले सप्ताह अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट से साझा किया।

आएगी फिर से बीजेपी शीर्षक से भी गाना जारी किया गया है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री की तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है।

समाजवादी पार्टी के पास अपने प्रचार के लिए अलग गाने हैं जिनमें से एक अवधी बोली में गाना है, खदेड़ा होइबे (बाहर निकाल देंगे) जो राज्य की सत्ता से भाजपा को बाहर करने की बात करता है।

गोवा में तृणमूल कांग्रेस ने अपने प्रचार के लिए कोंकणी भाषा में गाना जारी किया है जिसके बोल हैं, एइलो दो फुलांछो काल, गोएछी नवी सकल (दो फूल का युग यहां गोवा की नई सुबह) और इसके जरिए वह मतदाताओं को जोड़ने का प्रयास कर रही है। गाने में दो फूल का संदर्भ तृणमूल कांग्रेस के चुनाव चिह्न से है।

पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर निशाना साधा है जो पद ग्रहण करने के बाद से चुनावी वादे कर रहे हैं। आप उन्हें कॉमिक स्ट्रिप में ऐलान मंत्री (घोषणा मंत्री) दिखा रही।

पंजाब कांग्रेस ने भी अपना कॉमिक स्ट्रिप जारी कर पलटवार किया है और आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को विज्ञापन भाई के तौर पर दिखाया है साथ ही व्यंग कसा है कि खोखले नारे केजरीवाल का काम है चन्नी का नहीं। इस बीच, पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा बनाई गई नई पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस को हॉकी स्टिक और गेंद बतौर चुनाव चिह्न मिला है, जिसके साथ हैशटैग चलाया जा रहा है इबस हुन गोल करना बाकी।

उत्तराखंड कांग्रेस एक रैंक एक पेंशन (ओआरओपी) पर वीडियो बनाकर भाजपा को निशाने पर ले रही है। इस वीडियों में सैन्य वर्दी में दिख रहे बच्चे यह कहते सुनाई दे रहे हैं कि पूर्व सैनिकों को अबतक पेंशन योजना का पूरा लाभ नहीं मिला है। यह वीडियो एक ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल के विज्ञापन पर आधारित है। इस पर उत्तराखंड भाजपा ने कहा, पूरा देश जानता है कि सैनिकों को किसने ओआरओपी से वंचित किया और किसने सुनिश्चित किया कि उनका हक मिले। आइए देखें कैसे देश की सबसे असत्यवादी पार्टी का झूठ का भंडाफोड़ खुद सैनिक कर रहे हैं। पार्टी ने इसके साथ ही वीडियो साझा किया है जिसमें पूर्व सैनिक मोदी को ओआरओपी लागू करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित कर रहे हैं।

Rashifal

%d bloggers like this: