बैराज घाट पर लगातार शवों के जलने का सिलसिला लगातार बढ़ता ही जा रहा है

Spread the knowledge and Information

बिजनौर। बैराज घाट पर लगातार मरने वालों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है। प्रकाशन भले ही अपनी पीठ थपथपा रहा हो मौतों का सिलसिला कम होने का नाम नहीं ले रहा है। अधिकारियों के दिल पर कोई मैल नहीं है कि जनपद में जनता मर रही है और सफाई व्यवस्था की झूठी तस्वीरें चाहेते पत्रकारों को देख कर अपने आप को सुपरहिट साबित करने में लगे हैं जबकि इसके पीछे कहानी कुछ और है। यदि आप किसी भी गांव में या आसपास में जाकर देखेंगे तो पता चलेगा कि गंदगी के अंबार किस तरह से लगे हुए हैं। गांव में लगातार नालियां गंदगी से भरी हुई हैं और सफाई कर्मी भी कोई काम नहीं कर रहे हैं जबकि कोरोना के चलते सफाई व्यवस्था पर ध्यान देना बहुत ही आवश्यक है किंतु अधिकारी अपने घर में बैठे हैं और दिखावा कर रहे हैं कि वह सफाई व्यवस्था और सैनिटाइजर करा रहे हैं। आपको बताते चलें शहर के आसपास जितने भी गांव में उनकी हालत इस कदर गंदी है कि ना तो लोगों को दवाइयां ही मिल रही हैं और न ही उपचार लोग लगातार हर घर में बीमार है। कोई कोरोनावायरस है तो कोई डेंगू से बीमार है डेंगू की ओर मलेरिया अधिकारी व अन्य अधिकारी कतई भी ध्यान नहीं दे रहे हैं जबकि डेंगू ने जनपद में काफी समय से दस्तक दे रखी है। कई लोग डेंगू से ग्रसित है और उनके इलाज प्राइवेट नर्सिंग होम में चल रहे हैं। प्राइवेट नर्सिंग होम वाले लगातार मरीजों को लूट रहे हैं। प्रशासन इस ओर कतई ध्यान नहीं दे रहा है कि आखिरकार इस बुरे वक्त में अधिकारी डॉक्टर ही अपनी जेब गर्म कर रहे हैं। शर्म की बात यह है कि हर कोई एक व्यक्ति को देखने को भी तैयार नहीं है। कोई भूख से मर रहा है तो कोई बीमारी से आखिरकार हर तरफ मनुष्य के आज मौत ही मौत दिखाई दे रही है। अधिकारी झूठ बोलने का काम कर रहे हैं यह बात सिद्ध हो गई है प्रमाणित हो गई है जिसका परिणाम तीन अधिकारियों का भ्रष्टाचार में लिप्त होना पाया गया है और उनके स्थानांतरण भी हो गए हैं। इससे ज्यादा और शर्म की क्या बात है कि जनपद में ऐसे अधिकारियों की कोई कमी नहीं है। उसके बावजूद भी यदि कोई व्यक्ति दावा करता है कि जनपद में भ्रष्टाचार नहीं है तो फिर इन अधिकारियों के स्थानांतरण क्यों हुए हैं। यदि आप बैराज पर जाकर देखें तो चारों चिताए जल रही हैं हर ओर डर का माहोल बना है।


Spread the knowledge and Information

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *