भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई में असंतोष के स्वर

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest
भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई में असंतोष के स्वर

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई के भीतर असंतोष का स्वर सुनने को मिला जब केंद्रीय मंत्री शांतनु ठाकुर के नेतृत्व में पार्टी के बागी नेताओं के एक समूह ने पार्टी की नवगठित राज्य समिति पर नाराजगी व्यक्त की। भाजपा के कई नेताओं के साथ बैठक करने के वाले ठाकुर ने संवाददाताओं को बताया कि राज्य और जिला समितियों के गठन में समर्पित और वफादार नेताओं के बलिदान की अनदेखी की गई है जिन्होंने राज्य में पार्टी को इस स्तर तक पहुंचाया है। उन्होंने कहा, जिन लोगों ने भाजपा को राज्य में वर्तमान ऊंचाई तक पहुंचाया है, उन्हें (राज्य) समिति में नजरअंदाज कर दिया गया है। ऐसे नब्बे प्रतिशत नेताओं को इसमें से हटा दिया गया है। महत्वपूर्ण मतुआ और अन्य पिछड़ी जाति के नेताओं को छोड़ दिया गया है। राज्य और जिला स्तर की दोनों समितियां अब अनुभवहीन नेताओं से भरी हुई हैं।

मतुआ समुदाय के महत्वपूर्ण नेता ठाकुर ने कहा, क्या कुछ लोग यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि प्रदेश में भाजपा बेहतर नहीं करे। प्रदेश में तृणमूल कांग्रेस को मजबूत करने के उद्देश्य से एक नेता पर भाजपा को कमजोर करने के लिए काम करने का आरोप लगाते हुए ठाकुर ने कहा कि वह केंद्रीय नेतृत्व के साथ इस मामले को उठाएंगे।

Rashifal

%d bloggers like this: