महामारी के बावजूद 82 प्रतिशत भारतीय पेशेवर 2022 में नौकरी बदलना चाहते हैं : लिंक्डइन

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

 

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के बावजूद बड़ी संख्या में भारतीय पेशेवर 2022 में नौकरी बदलने पर विचार कर रहे है। एक रिपोर्ट में यह निष्कर्ष निकाला गया है। ऑनलाइन पेशेवर नेटवर्क लिंक्डइन ने नई नौकरी तलाशने वालों पर शोध शुरू किया है। कंपनी ने अपने शोध में पाया कि 2022 में करीब 82 प्रतिशत पेशेवर नौकरी बदलने पर विचार कर रहे हैं। लिंक्डइन ने भारत में 1,111 पेशेवरों के साथ किए सर्वेक्षण में पाया कि कर्मचारी खराब कार्य-जीवन संतुलन, पर्याप्त वेतन नहीं होने या अपने पेशे को लेकर बड़ी महत्वाकांक्षाओं के कारण अपनी वर्तमान नौकरी छोड़ना चाहते हैं। सर्वेक्षण के अनुसार, भारत में नौकरी बदलने की इच्छा जताने वाले पेशेवरों ने कहा कि लचीली कार्य व्यवस्था उनकी शीर्ष प्राथमिकता है। लिंक्डइन न्यूज के प्रबंध संपादक-भारत अंकित वेंगुर्लेकर ने कहा, कोरोना महामारी ने लोगों को अपने करियर के बारे में पुनर्विचार करने और जीवन में नए उद्देश्य और प्राथमिकताओं को पूरा करने को लेकर नौकरी के नए अवसरों की तलाश करने के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने कहा, सूचना प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य देखभाल और कारोबार विकास क्षेत्र में तकनीक संबंधी कौशल की मांग तेजी से बढ़ रही है। लिंक्डइन के शोध में साथ ही खुलासा किया गया है कि भारत में पेशेवर अपनी नौकरी की भूमिका, करियर और रोजगार की उपलब्धता को लेकर आश्वस्त हैं।

Rashifal

%d bloggers like this: