महाराष्ट्र में एक जोड़ी बैल के अभाव में व्यक्ति ने छोटा ट्रैक्टर बना दिया

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस : 16 जनवरी
औरंगाबाद (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के बीड जिले में एक व्यक्ति ने देश के समक्ष स्टार्टअप का अच्छा उदाहरण पेश किया है। इस व्यक्ति ने एक जोड़ी बैल की कमी पूरी करने के लिए 18 हार्स पावर का छोटा ट्रैक्टर बना दिया ताकि कृषि कार्यों में मदद मिल सके। राष्ट्रीय स्टार्ट-अप दिवस पर पिंपलनेर निवासी 36 वर्षीय नामदेव अनेरव ने कहा कि ट्रैक्टर बनाने का विचार उनके मन में 2008 के दौरान आया जब उन्हें अपने पैतृक खेत में एक जोड़ी बैल की जरूरत पड़ी। इसके बाद उन्होंने एक डेढ़ फुट चौड़ा और पांच फुट लंबा ट्रैक्टर बनाने के बारे में सोचा। नामदेव ने कहा, बड़े ट्रैक्टर छोटे खेतों में बेहतर ढंग के साथ नहीं काम कर सकते। इस कमी को पूरा करने के लिए मैंने छोटा ट्रैक्टर बनाया, जो पेट्रोल और डीजल से संचालित है। लंबे समय तक किए गए परीक्षण के बाद मैंने 2011-12 में अपने वेल्डिंग कौशल का इस्तेमाल करके पहला प्रोटोटाइप तैयार किया। अंतिम रूप से तैयार ट्रैक्टर जुताई और घास हटाने के अलावा मिड्टी के ढेर को तोड़ सकता है।
उन्होंने कहा, मुझे अगले चार महीनों में 40 ऐसे ट्रैक्टर देने हैं, जिनके लिए मैंने सात लोगों को रोजगार दिया है। इसके लिए पिंपलनेर में ही पूरी सुविधा प्रदान करने पर विचार कर रहा हूं ताकि लोगों को रोजगार मिल सके। मैंने खुद के 1.10 लाख रुपए से शुरुआत की थी, लेकिन 28 निवेशकों ने आठ लाख रुपए का निवेश किया। फिलहाल निवेश का कुल मूल्य 1.10 करोड़ रुपए है। नामदेव ने पिछले साल जुलाई में ही अपने उत्पाद के लिए पेटेंट हासिल किया था।

%d bloggers like this: