सरकार के बाजार उधारी कार्यक्रम से निजी निवेश प्रभावित नहीं होगा: सेठ

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

नई दिल्ली। आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने कहा है कि सरकार अगले वित्त वर्ष में बाजार से उधारी जुटाने का कार्यक्रम गैर-बाधाकारी ढंग से चलाएगी और इससे निजी निवेश पर कोई प्रतिकूल असर नहीं होगा।

सरकार को वित्त वर्ष 2022-23 में 6.6 लाख करोड़ रुपए की शुद्ध उधारी जुटानी है और सरकार इस आंकड़े पर टिकी रहेगी। उन्होंने कहा, उधारी कार्यक्रम को गैर-बाधाकारी ढंग से अंजाम दिया जाएगा और इससे निजी क्षेत्र प्रभावित नहीं होगा।

सेठ ने कहा, इस साल हमें छह लाख करोड़ रुपए जुटाने की उम्मीद है। अगले साल यह आंकड़ा 4.25 लाख करोड़ रुपए रहने का अनुमान है। लेकिन अगर छोटी बचत योजनाएं मौजूदा वर्ष की ही तरह आकर्षक बनी रहती हैं तो उनसे होने वाला संग्रह भी 2021-22 के स्तर पर रहेगा और तब बाजार से जुटाई जाने वाली उधारी भी कम हो जाएगी।

%d bloggers like this: