क्या आप जानते हैं? सीलबंद पानी की बोतल पर सिर्फ बोतल की होती है एक्सपायरी डेट?

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on reddit
Share on pinterest

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आपने देखा होगा बाजार में मिलने वाले हर खाने– पीने के सामग्री की पैकिंग पर एक्सपायरी डेट लिखी होती है। जिसके समय अनुसार हम उस सामान का उपयोग करते हैं। ऐसे ही अक्सर जब लोग किसी लम्बे सफर पर, किसी टूर या एडवेन्चर पर जाते हैं तो साथ में सीलबंद वाला पानी लेकर जाते हैं। पहले लोग अपने साथ घर से ही किसी बड़ी बोतल में पानी भर कर ले जाते थे। लेकिन यात्रा को आसान बनाने के लिए सीलबंद बोतल चलन में हैं। 

सीलबंद बोतल वाला पानी साफ और फिल्टर किया होता है, लेकिन क्या आप ने कभी गौर किया है कि आखिर इन बोतलों पर एक्सपायरी डेट क्यूं होती हैं? क्या पानी भी कभी खराब होता है? क्या पानी की भी कोई एक्पायरी डेट होती है? आदि। तो आईये हम आपको इन सभी सवालों के जबाव देते हैं और आपके इस कंफ्यूजन को भी दूर कर देते हैं।

जानिए दुनिया के सबसे डरावने आइलैंड के बारे में, एक साथ जला दिए गए थे 1,60,000 लोग

वैसे तो पानी की बोतल पर एक्सपायरी डेट लिखे जाने के कई कारण हैं, जिनमें से पहला कारण है सरकारी नियम- जिसके तहत हर खाने– पीने की चीजों पर उसकी एक्सपायरी डेट लिखी जाती है। लेकिन आपको जानकार आश्चर्य होगा कि पानी की बोतल पर लिखी हुई एक्सपायरी डेट पानी के लिए नहीं होती, बल्कि यह डेट पानी के लिए यूज की गई प्लास्टिक की बोतल की होती है। 

उत्तराखंड में मिली उड़ने वाली गिलहरियों की पांच प्रजातियां, पांचों है एक दूसरे से भिन्न

दरअसल, इस एक्सपायरी डेट के निकलने के बाद प्लास्टिक की बोतल से निकले केमिकल पानी में घुलने लगते हैं। इनमें से एक केमिकल biphenyl A से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा भी बढ़ जाता है जबकि पुरुषों में बांझपन बढ़ सकता है। हमारे शरीर को इन गंभीर प्रभावों से बचाने के ​कारण ही बोतलों पर प्लास्टिक की एक्सपायरी डेट लिखी जाती है। 

Source link

%d bloggers like this: